से बोलीं मेनका गांधी, 'मेरी जान खाते हो, क्यों बोते हो गन्ना, नहीं है जरूरत'

9 months 112 Views

से बोलीं मेनका गांधी, 'मेरी जान खाते हो, क्यों बोते हो गन्ना, नहीं है जरूरत'
News Track Hindi
9 months
112 Views

Description:

एक तरफ जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2022 तक देश के किसानों की आय दोगुनी करने की बात अपने हर भाषण में दोहराते है वही दुरी और उनकी ही मंत्री मेनका गांधी के संसदीय क्षेत्र पीलीभीत के गन्ना किसान बड़ी आस लेकर जब मंत्री महोदया के पास पहुंचे तो मेनका ने बड़े बेरुखे अंदाज में किसानों के जख्मो पर नमक छिड़का. किसानों को जवाब देते हुए मेनका ने कहा, यहां आकर मेरी जान खाते हो, ना देश को चीनी की जरूरत है, ना गन्ना बढ़ने वाला है. हज़ार दफा बोल चुकी हूं कि गन्ना मत लगाओ'...

Read More

Comments:

Comment

Autoplay